Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

आतंकी फंडिंग को लेकर जम्मू-कश्मीर में 12 जगह छापेमारी

श्रीनगर/ राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने जम्मू-कश्मीर स्थित अलगाववादी नेताओं के खिलाफ आतंकी फंडिंग मामले में कड़ा रुख अपनाया हुआ है। इसी सिलसिल में एनआईए की टीम ने ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर में 12 जगह छापेमारी की है। जिसमें श्रीनगर, हंदवाड़ा, बारामूला में छापेमारी की गई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक श्रीनगर में कारोबारी के दो ठिकानों पर छापेमारी की गई है। छापेमारी अब अभी भी जारी है।

आपको बता दें कि आतंकी फंडिंग मामले में एनआईए की टीम अब तक कई अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ कर चुकी है। एनआईए ने करीब 20 दिनों तक अलगाववादी नेताओं से पूछताछ की थी। पूछताछ में कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं, जिसको लेकर NIA की जांच जारी है। पिछली सुनवाई में हुर्रियत नेता गिलानी के दामाद अल्ताफ फंटूश समेत मेहराजुद्दीन कलवाल, पीर सैफुल्लाह और नईम खान को कोर्ट ने 28 अगस्त तक के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया है।

गौरतलब है कि कश्मीर में टेरर फंडिंग को लेकर कुल 7 अलगाववादी नेताओं को पिछले महीने एनआईए की टीम ने गिरफ्तार किया था।

इनमें से तीन नेताओं से लगातार 10 दिन तक NIA ने पूछताछ की। NIA इन्हीं नेताओं से आगे भी पूछताछ करना चाहती थी।  लिहाजा, कोर्ट ने बीते 4 अगस्त को तीन नेताओं को 30 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। NIA ने कोर्ट में दलील दी कि जब से इनकी गिरफ्तारी हुई है, घाटी में पत्थरबाजी की घटनाओं में खासा कमी आई है।

Read more...

आतंकी अबु दुजाना के मारे जाने के बाद कश्मीर में अघोषित कर्फ्यू

जम्‍मू-कश्‍मीर/ घाटी में लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर अबु दुजाना के मंगलवार को मारे जाने के बाद कश्‍मीर में बुधवार को अलगाववादी संगठनों ने बंद की घोषणा की है. आतंकी अबु दुजाना के खात्‍मे के बाद जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा और शोपियां में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. सुरक्षाबलों को अंदेशा है कि दुजाना की मौत के बाद घाटी में हालात बिगड़ सकते हैं. दुजाना मंगलवार को जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया था. कई आतंकी वारदातों को अंजाम देने वाले इनामी आतंकी दुजाना की सुरक्षाबलों की लंबे समय से तलाश थी.

दुजाना के मारे जाने के विरोध में कश्‍मीर में अलगाववादी संगठनों ने बुधवार को बंद का ऐलान किया है. बंद से निपटने के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. इसी के मद्देनजर कश्‍मीर में सभी स्‍कूल-कॉलेजों को बंद करा दिया गया है और परीक्षाओं को भी टाल दिया गया है. एहतियात के तौर पर संवेदनशील इलाकों में धारा 144 लगाई गई है. साथ ही दक्षिण कश्‍मीर में इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई है. पुलिस ने आतंकियों के समर्थन में पत्‍थरबाजों पर कार्रवाई करने की भी चेतावनी दी है.

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में मंगलवार को दुजाना के मुठभेड़ में मारे जाने से सेना और सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है. कई आतंकी वारदातों को अंजाम देने वाले इनामी आतंकी दुजाना की सुरक्षाबलों की लंबे समय से तलाश थी. अधिकारियों ने बताया कि भीतर छिपे आतंकियों की गोलियों के बीच एसओजी कर्मियों ने सबसे पहले मकान में प्रवेश किया और कवर फायर के बीच छह लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया.

Read more...

बुरहान बानी से बड़ा आतंकी अबु दुजान सेना ने मार गिराया

जम्मू/ जम्मू-कश्मीर में सेना और सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है. मंगलवार सुबह कश्मीर के पुलवामा के काकापोरा में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर अबु दुजाना को ढेर कर दिया है. इस मुठभेड़ में दो आतंकियों के मारे जाने की खबर है. आपको बता दें कि कई आतंकी वारदातों को अंजाम देने वाले इनामी आतंकी दुजाना की सुरक्षाबलों की लंबे समय से तलाश थी. खबरों के मुताबिक फायरिंग बंद हो चुकी है और सर्च ऑपरेशन जारी है. इस बीच स्थानीय लोग सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी भी कर रह हैं

सुरक्षाबलों को पुलवामा के काकापोरा में अबु दुजाना समेत 2 से 3 आतंकियों के एक घर में छिपे होने की सूचना मिली थी. इसके बाद पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी गई. मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों ने उस घर को विस्फोटक से उड़ा दिया, जिसमें आतंकियों के छिपे होने की सूचना थी.

 

Read more...

अातंकी फंडिंग के मामले केंद्रीय जांच एजेंसी एनआईए की जम्मू-कश्मीर में छापेमारी

 जम्मू-कश्मीर में अातंकी फंडिंग के मामले केंद्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आज दो जगह छापेमारी की। इसके साथ ही एनआईए की टीम ने देवेंद्र सिंह के जम्मू स्थित आवास पर जाकर उनसे पूछताछ की। एनआईए पिछले कई दिनों से आतंकी फंडिंग के मामले में कई जगह छापेमारी कर चुका है।

बता दें कि पाकिस्तानी फंडिंग की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार (24 जुलाई) को कट्टरपंथी सईद अली शाह गिलानी के दामाद अल्ताफ अहमद फंतोश, पूर्व आतंकी कमांडर फारुक अहमद डार उर्फ बिटटा कराटे और वरिष्ठ अलगाववादी नेता नईम अहमद खान समेत सात लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

दिल्ली कोर्ट की विशेष एनआईए न्यायाधीश पूनम बांबा ने 24 जुलाई को गिरफ्तार किए गए सातों आरोपियों को 10 दिन की एनआईए रिमांड पर सौंप दिया। एनआईए ने कोर्ट से 18 दिन की रिमांड मांगी थी। यह भी बताया कि सातों को जांच के लिए अलग-अलग स्थानों पर ले जाना पड़ सकता है। गिरफ्तारी के दौरान की गई छापेमारी में दो करोड़ रुपए, कुछ किताबें और आतंकी संगठनों के लेटर हेड बरामद हुए हैं। मामले की अगली सुनवाई 4 अगस्त को होगी।

एनआईए ने आतंकी फंडिंग के मामले में 30 मई को कई अलगाववादी नेताओं और हुर्रियत के सदस्यों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इसके बाद सोमवार (24 जुलाई) को पूर्व आतंकी कमांडर फारुक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे को दिल्ली से, नईम खान, अल्ताफ अहमद शाह गिलानी (हुर्रियत प्रमुख सैयद अली शाह गिलानी का दामाद), अयाज अकबर, पीर सैफुल्लाह, राजा मेहराजुद्दीन, आफताब हिलाली शाह उर्फ शाहिद उल इस्लाम को श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया था।

जिसके बाद उन्हें दिल्ली लाया गया था। इन सभी पर कश्मीर में आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन, लश्कर-ए-तैयबा समेत अन्य संगठनों की गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए अवैध तरीके से फंड एकत्रित कर आतंकियों तक पहुंचाने का आरोप है। 

 

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.