Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

भारत में इस पार 50 डिग्री के पार जा सकता है तापमान

नई दिल्लीः मौसम ने एक बार फिर करवट ली है।एक ओर जहां राजधानी दिल्ली और उसके आस-पास के क्षेत्रों में आज से दो पहले तक सर्दी सता रही थी। वहीं दो दिन बाद अचानक लोगों के शरीर से गर्म कपड़े हट गए और सभी गर्मी वाले हल्के कपड़ों में नजर आने लगे। देश के अन्य क्षेत्रों का भी कमोबेश यही हाल है। फरवरी महीने में ही मैदानी इलाकों में जोरदार गर्मी पड़ने लगी जबकि पहाड़ी इलाकों में अभी भी बर्फबारी हो रही है। मौसम में आए इस बदलाव की वजह ग्लोबल वार्मिंग को बताया जा रहा है। इसके अलावा बार-बार आ रहे पश्चिमी विक्षोभ और स्थानीय शहरी कारक को भी जिम्मेदार माना जा रहा है।

मौसम विभाग के वरिष्ठ विज्ञानी डॉ. रविंद्र विशेन ने भी संभावना जताई कि इस साल गर्मी कुछ ज्यादा हो सकती है। फरवरी में इतनी अधिक गर्मी पड़ने की वजह उन्होंने भी पश्चिमी विक्षोभ को बताया। उन्होंने यह भी कहा कि अभी अधिकतम तापमान और मानसून से पहले की बारिश के बारे में कुछ कहना थोड़ी जल्दबाजी होगी।

अंतरराष्ट्रीय मौसम वेबसाइट स्काईमेट के वरिष्ठ विज्ञानी महेश पलावत की मानें तो पिछले साल की तुलना में ये साल ज्यादा गर्म हो सकता है। स्काईमेट के अनुसार इस साल एक से दो डिग्री सेल्सियस ज्यादा तापमान रह सकता है और पारा 49 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है।

जानकारों की मानें तो दिल्ली-एनसीआर में साल दर साल गर्मी बढ़ रही है और सर्दी घट रही है। इसके लिए अर्बन हीट आइलैंड भी एक बड़ी वजह है। इसका मतलब है कि बढ़ते शहरीकरण से जुड़ी गतिविधियां। आबादी के बढ़ते दबाव में यहां हरित क्षेत्र कम होता जा रहा है, जबकि कंक्रीट का जंगल बढ़ता जा रहा है। हरित क्षेत्र कम होने से शहरों में प्रकृति का संतुलन गड़बड़ा रहा है।

Last modified onTuesday, 21 February 2017 05:53
back to top

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.