Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

अमेरिका के बाद क्यूबा में इरमा तूफान का कहर

क्‍यूबा/ तूफान इरमा शनिवार को अपने प्रलयकारी रूप यानी कैटेगरी 5 में क्यूबा के उत्तरी तट से टकराया। इस तूफान ने कैरेबियाई द्वीप पर 21 लोग की जान ली, जबकि यहां लाखों लोगों को पहले ही सुरक्षित स्‍थानों पर भेज दिया गया था। अब लाखों फ्लोरिडा निवासियों को भी सुरक्षित स्‍थानों की ओर कूच करने के आदेश दिया गया है।

इरमा तूफान की वजह से क्यूबा में हवा 260 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चल रही है। अमेरिका के नेशनल हरिकेन सेंटर (एनएचसी) के मुताबिक, तूफान ने शुक्रवार रात 11 बजे क्यूबा के कामागुई द्वीपसमूह पर दस्तक दी थी। क्यूबा प्रशासन अभी तक 700,000 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा चुकी है। अब तक समुद्र तट के आसपास के कई शहर खाली करवा लिए गए हैं। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि क्‍यूबा के बाद फ्लोरिडा में यह यह तूफान और भयंकर रूप दिखा सकता है।

एनएचसी का अनुमान है कि इरमा तूफान का सबसे ज्यादा खतरा फ्लोरिडा पर मंडरा रहा है। यहां से लाखों लोगों को तटीय क्षेत्रों से दूर चले जाने के लिए कह दिया गया है। हालांकि राष्ट्रीय मौसम केंद्र ने ट्वीट कर बताया कि फ्लोरिडा का कोई भी स्थान सुरक्षित नहीं होगा। रविवार की सुबह इरमा अपने प्रचंड रूप में फ्लोरिडा से टकराएगा।

फ्लोरिडा के गवर्नर रिक स्कॉट ने शुक्रवार रात कहा, 'यदि आपको सुरक्षित स्थानों पर जाने के आदेश दिए गए हैं, इसलिए तुरंत यहां से चले जाइए। आज रात नहीं, एक घंटे में नहीं बल्कि अभी।'

रेड क्रास ने बताया है कि 'इरमा' से अब तक 12 लाख लोग प्रभावित हुए हैं, लेकिन यह संख्या बढ़कर 2.6 करोड़ तक पहुंच सकती है। प्यूर्टो रिको में कम से कम दो लोगों की मौत हुई है, जबकि तीस लाख बिना बिजली के रह रहे हैं। वाशिंगटन में केंद्रीय आपात प्रबंधन एजेंसी (एफईएमए) ने बताया कि 'इरमा' का लगातार खतरा बना हुआ है। यह फ्लोरिडा या दक्षिण अमेरिकी प्रांतों में तबाही ला सकता है। एफईएमए के प्रमुख ब्रोक लांग ने कहा, 'पूरे दक्षिण पूर्वी अमेरिका को इस पर ध्यान देने की जरूरत है। यह वाकई विनाशकारी होगा।' अमेरिका के वर्जिन आइलैंड में चार लोगों की मौत हो गई है।

Read more...

अर्जेंटीना में बस हादसा,13 लोगों की मौत

ब्यूनस आयर्स: पूर्वी अर्जेंटीना में दो बसों की आमने-सामने से हुई भिडंत में 13 लोगों की मौत हो गई और 34 लोग घायल हो गए। यह जानकारी आपातकालीन सेवाओं की ओर से मिली है।

नागरिक सुरक्षा अधिकारी मारकोस इसकाजाडील्लो ने समाचार चैनल सी5एन को बताया कि कल जिस समय बसें दुर्घटनाग्रस्त हुईं, तब वह यात्रियों से भरी हुई थीं। ये बसें पहले आपस में टकराईं और फिर रोसारियो शहर के निकट खाई में गिर गई।उन्होंने बताया कि जांच में अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि दुर्घटना की वजह क्या थी। दुर्घटना के समय मौसम साफ था।

Read more...

महंगाई से परेशान वेनेजुएला सरकार ने जारी किए 500 और 20,000 के नये नोट

कराकस: वेनेजुएला सरकार ने पिछले महीने बंद किए गए 100 बोलिवर के नोट के बाद 500 और 20,000 बोलिवर के नए नोट जारी किए हैं। सरकार ने यह कदम देश में बढ़ती महंगाई दर और तबाह होती इकोनॉमी को बचाने के लिए उठाया है। नए नोट जारी होने के बाद ATMs के बाहर लंबी लाइनें देखी जा रही हैं। इतना ही नहीं, यहां के लोग नए नोटों पर इतने सारे जीरो देखकर भी हैरान हो रहे हैं। 

वेनेजुएला के प्रेसिडेंट निकोलस मादुरो ने पिछले महीने 100 बोलिवर के नोट बंद करने का एलान किया था। देश की टोटल करंसी का 77% हिस्सा 100 बोलिवर के नोट में था।उस वक्त तक सरकार नई करंसी तैयार नहीं करा पाई थी। लिहाजा, काफी हिंसा हुई और 7 लोगों की मौत हो गई थी। सरकार का कहना है कि देश में महंगाई दर तीन अंकों में पहुंच गई है। इसके अलावा, कालाबाजारी भी बेकाबू हो रही थी। इसलिए बड़े नोट लाना जरूरी था। दिसंबर के दूसरे हफ्ते में यहां महंगाई दर 180 अंकों तक पहुंच गई थी। सरकार के सामने एक बड़ा खतरा फॉरेन एक्सचेंज रिजर्व का भी था। ये खत्म हो रहा था और इसकी वजह से देश में फूड प्रोडक्ट्स की कमी हो रही थी। वेनेजुएला में सरकार को फूड इम्पोर्ट पर काफी पैसा खर्च करना पड़ता है।

कराकस में रहने वाली मेलिना मोलिना नए नोट को देखकर हैरान हैं। उन्होंने कहा- "मैंने कभी नहीं सोचा था कि मेरे हाथ में इतना बड़ा नोट होगा जिसमें ढेर सारे जीरो होंगे। लेकिन सरकार ने ये फैसला महंगाई और गलत कामों को रोकने के लिए किया है तो फिर ये सही है।" मेलिना के मुताबिक, "पहले जब वे खरीददारी करने के लिए जाती थीं तो उन्हें ढेर सारे नोट लेकर जाना पड़ता था।"

Read more...

ब्राजील की जेल में फिर गैंगवार, 26 की मौत

नताल: ब्राजील की जेल में संदिग्ध गिरोह के सदस्यों के बीच खूनी झड़प में 26 कैदी मारे गए। मरने वालों में से ज्यादातर कैदियों के सिर काट दिए गए हैं। यह खूनी संघर्ष शनिवार की रात ब्राजील के उत्तर-पूर्वी राज्य रियो ग्रांदे दो नोर्ते की अलकाउज जेल में शुरू हुआ।ब्राजील के मीडिया के मुताबिक, माना जा रहा है कि जेल में यह हिंसा ब्राजील के सबसे बड़े मादक पदार्थ गिरोह, द फर्स्ट कैपिटल कमांड (पीसीसी) और इसके मुख्य प्रतिद्वंद्वी के सहयोगी गिरोह रेड कमांड के बीच हुई।

इस बीच दक्षिणी राज्य पराना के अधिकारियों ने बताया कि क्यूरितिबा शहर में स्थित एक जेल में कैदियों ने विस्फोट कर दीवार उड़ाई और पुलिस पर गोलीबारी की जिसके बाद 28 कैदी भाग गए।जनवरी की शुरुआत में अन्य जेलों में भी इसी तरह का खूनी संघर्ष भड़क उठा था, जिसमें 100 कैदी मारे गए थे। राज्य के सार्वजनिक सुरक्षा प्रबंधक काहियो बेजेरा ने कल एक संवाददाता सम्मेलन में 26 कैदियों के मारे जाने की पुष्टि की।

स्थानीय प्रशासन के मुताबिक, सुरक्षा बलों ने हिंसा के 14 घंटे बाद रविवार की सुबह जेल में प्रवेश किया और व्यवस्था बहाल की गई। अधिकारियों का कहना है कि जेल के विभिन्न हिस्सों से आकर मादक पदाथरें के दो गिरोहों के सदस्य आपस में भिड़ गए। जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए एक कैदी के परिवार के सदस्य ने कहा कि प्रशासन वह सब कुछ नहीं कर रहा है जो वह कर सकता है।

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.