Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

चीन श्रीलंका से बंदरगाह के प्रबंधन का समझौता करेगा

कोलंबोः ऐसा माना जा रहा है कि श्रीलंका की सरकार ने एक ऐसे सौदे को आधिकारिक अनुमति दे दी है जो कि देश के एक बंदरगाह का प्रबंधन एक शताब्दी के लिए किसी चीनी कंपनी द्वारा होना संभव बनाएगा। वर्तमान में दक्षिणी श्रीलंका के हम्बनटोटा बंदरगाह का निर्माण-कार्य चीन द्वारा प्रदत्त 1 अरब 40 करोड़ डॉलर के ऋण के उपयोग से किया जा रहा है। यह बंदरगाह निर्माण पूर्ण होने के बाद दक्षिण एशिया के सबसे बड़े बंदरगाहों में से एक बन जाएगा।श्रीलंकाई सरकार तथा चीनी कंपनी के बीच होने वाले समझौते की एक प्रारूप प्रति प्राप्त की है। यह चीनी कंपनी बंदरगाह में 80 प्रतिशत की हिस्सेदार होगी। यह इस बंदरगाह को 99 वर्षों तक चलाने का अधिकार भी प्राप्त करेगी। इस प्रति में यह भी कहा गया है कि बंदरगाह की सुरक्षा का कर्तव्य भी चीनी पक्ष का होगा।दोनों पक्षों द्वारा इस महीने के अंत से पहले इस समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने की संभावना है।श्रीलंका की सरकार के कुछ सदस्य चिंता जता रहे हैं कि चीन इस समझौते का यह अर्थ लगा सकता है कि वह अपनी नौसेना के जहाज़ों तथा पनडुब्बियों को बंदरगाह पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भेजने की अनुमति दे सकता है।

Read more...

श्रीलंका के पूर्व प्रधानमंत्री विक्रमनायके का निधन

कोलंबो: श्रीलंका के दो बार प्रधानमंत्री रहे दिग्गज राजनेता रत्नासिरी विक्रमनायके का कुछ दिन की बीमारी के बाद मंगलवार को यहां निधन हो गया। विक्रमनायके के परिवार ने बताया कि 83 वर्षीय नेता पिछले कुछ दिन से बीमार थे और आज सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली। वह 1970 से कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे।उन्हें 21 दिसंबर को एक प्रमुख निजी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। विक्रमनायके एक बार साल 2000 से 2001 तक और फिर 2005 से 2010 तक देश के प्रधानमंत्री रहे।श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने 21 नवंबर, 2005 को उन्हें प्रधानमंत्री नियुक्त किया था।

Read more...

श्रीलंका के प्रधानमंत्री ने भारत-श्रीलंका के बीच पुल बनाने की बात को नकारा

कोलंबो : सिरीसेना ने कल रात यहां लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘ये पूरी तरह से बेबुनियाद दावे हैं। कुछ भारतीय नेताओं ने तमिलनाडु में स्थानीय चुनावों में जो कहा वह उन्होंने तुरंत स्वीकार लिया।’ राजपक्षे के एक समर्थक उदय गम्मानपिला ने एक सार्वजनिक बयान में पुल में आग लगाने की धमकी दी थी।श्रीलंकाई राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना ने उनके पूर्ववर्ती महिंदा राजपक्षे के समर्थकों के इस दावे को ‘बेबुनियाद’ बताकर खारिज किया है कि श्रीलंका ने इस द्वीप को भारत के साथ जोड़ने वाला एक पुल बनाने के प्रस्ताव पर सहमति जताई है।सिरीसेना ने कहा, ‘मैंने उन्हें यह कहते हुए सुना, मैं उनसे बकवास नहीं करने के लिए कहता हूं। ऐसा कोई पुल का प्रस्ताव नहीं है।’ प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने कल संसद में भी पुल बनाने के किसी प्रस्ताव से इंकार किया था।

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.