Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

बांग्लादेश में 3 दिन में दूसरा ISIS का हमला,6 की मौत

ढाका: बांग्लादेश के सिलहट में एक भवन में छिपे इस्लामी आतंकवादियों का सफाया करने में शीर्ष कमांडो अंतिम तैयारी कर रहे हैं. कुछ घंटे पहले इमारत परिसर के बाहर इस्लामिक स्टेट के बम धमाकों में छह लोगों की मौत हो गयी जबकि 50 से अधिक लोग घायल हो गये.

एक पुलिस अधिकारी ने मौके पर संवाददाताओं से कहा, ‘इस भवन के आसपास लोगों के आने पर रोक लगाते हुए वहां पाबंदी लगा दी गयी है क्योंकि आतंकवादियों का सफाया करने की अंतिम तैयारी चल रही है.’ डेली स्टार ने मौके पर मौजूद अपने फोटो पत्रकार के हवाले से खबर दी है कि पांच मजिले ‘अतिया महल’ में सुबह नौ बजकर 57 मिनट से कम से कम तीन धमाकों की आवाज सुनाई पड़ी हैं. समीप में एक बड़ा धमाका होने से भवन एक तरफ थोड़ा झुक गया है.

गोलियां चलाने की आवाज भी सुनाई पड़ी. लेकिन फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है कि कौन गोलियां चला रहा है, उधर सेना आतंकवादियों के सफाये की अंतिम तैयारी में जुटी है. सिलहट स्थित 17 वीं इंफैंट्री डिवीजन के मेजर जनरल अनवारूल मोमेन ‘ट्वाइलाइट’ नामक अभियान की अगुवाई कर रहे हैं जिसमें पुलिस की ‘स्वात’ इकाई एवं आतंकवाद निरोधक इकाइयां मदद कर रही हैं. शीर्ष रैपिड एक्शन बटालियन भी इस अभियान में शामिल है.

Read more...

बांग्लादेश में ट्रक और मिनी वैन की टक्कर,12 की मौत

ढाका: बांग्लादेश के चौडांगा जिले में रविवार को हुए एक सड़क हादसे में 12 कामगारों की मौत हो गई। ढाका और बांग्लादेश के दक्षिणी शहर खुल्ना को जोड़ने वाले राजमार्ग पर ट्रक और मिनी वैन की टक्कर की वजह से यह बड़ा हादसा हुआ.स्थानीय पुलिस स्टेशन के प्रभारी अधिकारी अबू जिहाद को उद्धृत करते हुए डेली स्टार की खबर में कहा गया है कि कामगारों की मौत उस समय हो गई जब 18 कामगारों को लेकर जा रही मिनी वैन की टक्कर ट्रक से हो गई.

पुलिस ने बताया कि मरने वालों की पहचान का पता तत्काल नहीं लग पाया है. ऐसा विश्वास है कि वह दिहाड़ी मजदूर थे और दामुरहुदा उपजिला के रहने वाले थे. इस दुर्घटना में घायल हुए लोगों चौदंगा सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

Read more...

ढाका एयरपोर्ट पर ISIS का आत्मघाती हमला,5 घायल

ढाका: बांग्लादेश की राजधानी ढाका स्थित अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर एक संदिग्ध आत्मघाती हमलावर ने खुद को विस्फोट करके उड़ा लिया. इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने ली है. लगभग एक हफ्ते पहले बांग्लादेश की रैपिड एक्शन बटालियन के शिविर पर भी ऐसा ही हमला हुआ था.

करीब 30 साल के हमलावर ने जीन्स और शर्ट पहनी हुई थी. उसने शाहजलाल अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के पास स्थित पुलिस चौकी के बाहर खुद को विस्फोटक से उड़ा लिया.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया से कहा, ‘‘यह आत्मघाती हमला मालूम होता है.. व्यक्ति ने पुलिस चौकी के सामने खुद को विस्फोटक से उड़ा लिया.‘आत्मघाती हमलावर’ ने एयरपोर्ट के एंट्री गेट पर तैनात पुलिसकर्मियों को निशाना बनाकर स्वयं को उड़ा लिया, इसमें उसकी मौत हो गई.

फिलहाल हमलावर की पहचान नहीं हो पाई है. सशस्त्र पुलिस बटालियन की सहायक आयुक्त तनजिला अख्तर ने समाचार वेबसाइट को बताया कि घटना स्थानीय समयानुसार शाम करीब सात बजे हुई.

पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘युवा व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई.’’ पुलिस ने कहा कि हमलावर के पास एक ट्रॉली बैग था जिसमें तीन और बम थे. बाद में बम निरोधक दस्ते द्वारा नियंत्रित विस्फोट के जरिए इन बमों को उड़ा दिया गया, लेकिन इस दौरान एक पुलिसकर्मी सहित पांच लोग घायल हो गए.

         

 

Read more...

बांग्लादेश में पांच आतंकियों को मौत की सजा

ढाका: बांग्लादेश की अदालत ने एक जापानी नागरिक की हत्या में पांच आतंकियों को मंगलवार को मौत की सजा सुनाई है। प्रतिबंधित जमातुल मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) के आतंकियों ने 2015 में कुनिओ होशी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। यह बांग्लादेश में विदेशियों,पंथ निरपेक्ष लोगों पर शुरू हुए हमलों के क्रम में पहली हत्या थी।

खबर के अनुसार, रंगपुर की विशेष अदालत के जज नरेश चंद्र सरकार ने कहा, 'पांचों को मरने तक फांसी पर लटकाए रखा जाए।' कोर्ट ने आरोप साबित नहीं होने पर एक को बरी कर दिया।

66 साल के होशी मई 2015 में बांग्लादेश आए थे और रंगपुर शहर के बाहरी इलाके में फार्महाउस खोला था। उनकी उसी साल तीन अक्टूबर को नकाबपोश आतंकियों ने हत्या कर दी थी। इस हमले की आइएस ने जिम्मेदारी ली थी, लेकिन सरकार ने कहा कि इस आतंकी समूह का बांग्लादेश में अस्तित्व नहीं है। रंगपुर के निवासियों ने बताया था कि होशी ने इस्लाम धर्म अपना लिया था। उनकी हत्या में नवंबर 2016 में आठ जेएमबी आतंकियों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया गया था। इनमें से पांच रंगपुर की जेल में बंद हैं, जबकि दो सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं। एक आतंकी अभी तक पकड़ा नहीं गया है।गौरतलब है कि बांग्लादेश में 2015 से कट्टरपंथियों की ¨हसा बढ़ गई है। पिछले तीन साल में अल्पसंख्यकों और विदेशियों के खिलाफ हुए हमलों के लिए जेएमबी आतंकियों को जिम्मेदार ठहराया गया है।

 

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.