Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

बहरीन में मानवाधिकारों का जमकर उल्लंघन

बहरीन: बहरीन मानवाधिकार केन्द्र के प्रमुख नबील रजब ने अपने पत्र में उल्लेख किया है कि बहरीन शासन ने बड़ी संख्या में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की विदेशी यात्राओं पर प्रतिबंध लगा दिया है, इसी कारण 20 मानवाधिकार कार्यकर्ता जेनेवा सम्मेलन में भाग नहीं ले सके।

नबील रजब का कहना है कि बहरैनी शासकों ने बहरनी शिया मुसलमानों के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाह शेख़ ईसा क़ासिम की नागरिकता छीन ली है और अब उनपर देश छोड़ने के लिए दबाव बना रहे हैं, लेकिन जनता के भारी प्रतिरोध के कारण यह लोग भयभीत हैं।

बहरीन में मानवाधिकारों की स्थिति को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चिंताएं व्यक्त की जा रही हैं, यही वजह है कि विश्व के विभिन्न देशों में बहरैन में मानवाधिकार की ख़राब स्थिति पर सम्मेलनों का आयोजन किया जा रहा है।

विश्व समुदाय में अधिक बदनामी से बचने के लिए आले ख़लीफ़ा शासन ने इन सम्मेलनों में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के भाग लेने पर प्रतिबंध लगा रखा है। हाल ही में जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र संघ मानवाधिकार परिषद द्वारा आयोजित मानवाधिकार सम्मेलन में बहरैनी मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को भाग लेने से रोक दिया गया था और आले ख़लीफ़ा शासन ने उन्हें देश छोड़ने की अनुमति नहीं दी थी।

back to top

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.