Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

पाकिस्तान ने बकरीद पर 64 संगठनों पर खाल एकत्र करने पर रोक लगाई

इस्लामाबाद/ पाकिस्तान ने देश में किसी भी प्रतिबंधित संगठन को धन जुटाने से रोकने के लिए बकरीद के दौरान लश्कर-ए-तैयबा समेत 64 संगठनों पर कुर्बानी के पशुओं की खाल इकट्ठा करने पर पाबंदी लगा दी है. गृह मंत्रालय ने कहा है कि यदि किसी जिले में कोई संगठन खाल इकट्ठा करने की योजना बना रहा है तो उसे संबंधित जिले के मुख्य नागरिक प्रशासक से अनापत्ति प्रमाणपत्र लेना होगा.

इन प्रतिबंधित संगठनों में लश्कर-ए-तैयबा, लश्कर-ए-झांगवी, सिपाह-ए-सहाबा पाकिस्तान, बलूचिस्तान नेशनल लिबरेशन आर्मी समेत 64 संगठन हैं. कुर्बानी किये गये पशुओं की खाल अवैध रूप से इकट्ठा करने पर दुष्परिणाम की चेतावनी देते हुए मंत्रालय ने कहा कि दोषियों पर आतंकवाद निरोधक कानून के तहत मुकदमा चलेगा.

पाकिस्तान में दो सितंबर को बकरीद है. चूंकि कुर्बानी देना हर मुसलमान, जो समर्थ है, के लिए अनिवार्य है ऐसे में लाखों पाकिस्तानी कुर्बानी देंगे. पारंपरिक तौर पर खाल परमार्थ संगठनों, अनाथघरों आदि को दे दी जाती है. आतंकवादी संगठनों ने आतंकवाद के वास्ते धन जुटाने के लिए इसका दोहन किया है.

Read more...

6 उम्मीदवारों के बीच जंग है पाकिस्तान में प्रधानमंत्री पद के लिये

इस्लामाबाद/ पाकिस्तान की विपक्षी पार्टियां मंगलवार को होने वाले प्रधानमंत्री के चुनाव में पीएमएल-एन के शाहिद खाकान अब्बासी के  खिलाफ अपना कोई संयुक्त उम्मीदवार खड़ा करने को लेकर सहमति बनाने में आज विफल रहीं. अब इस पद के लिए कुल छह उम्मीदवार मैदान में हैं.

पाकिस्तानी सर्वोच्च न्यायालय ने पनामा पेपर्स मामले में नवाज शरीफ को अयोग्य ठहरा दिया था जिसके बाद उन्हें प्रधानमंत्री पद छोड़ना पड़ा. राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने सदन के नए नेता का चुनाव करने के लिए नेशनल असेंबली की बैठक बुलाई है. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) ने अब्बासी को अंतिरम प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया है.

अब्बासी ने सोमवार को नेशनल असेंबली के सचिव जव्वाद रफीक मलिक को अपना नामांकन पत्र सौंपा. नामांकन दायर करने के बाद अब्बासी ने संवाददाताओं से कहा कि वह अपने कार्यकाल में नवाज शरीफ की नीतियों को आगे बढ़ाएंगे.प्रधानमंत्री पद के लिए साझा उम्मीदवार को लेकर विपक्षी दलों में सहमति नहीं बन पाई. इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने शेख रशीद को नामित किया, लेकिन पाकिस्तान मुस्लिम लीग-कायद को छोड़कर किसी दूसरी पार्टी का समर्थन उसे नहीं मिला.

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ने खुर्शीद शाह और नावीद कमर से नामांकन दाखिल करने को कहा. एमक्यूएम-पाकिस्तान की किश्वर जेहरा और जमात-ए-इस्लामी के शाहिबजादा तारिकुल्ला ने नामांकन दायर किया है.

Read more...

पाकिस्तान के पेशावर में गैस पाईप लाईन से वैन टकरायी, 16 की मौत

पेशावर/ पाकिस्तान के खैबर-पख्तूनख्वा में रावलपिंडी से पेशावर जा रही एक यात्री वैन के गैस पाइपलाइन से टकराने के बाद भीषण आग लग गई। इस हादसे में कार में सवार सभी 16 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

एबटाबाद चौक की विपरीत दिशा से आ रहे ट्रक से टकराने के बाद यात्रियों से भरी वैन गैस पाइपलाइन से जा टकराई। हादसे के बाद वैन में आग लग गई। आग ने इतनी तेजी से भयावह रूप धारण किया कि वैन में बैठे लोगों को बाहर निकलने का मौका नहीं मिल सका। हालांकि हादसे के बाद बचाव अधिकारियों ने जल्द ही आग पर काबू पा लिया। शवों को वैन से निकालकर निकट के जिला अस्पताल में रखा गया है। बुरी तरह जले शवों की शिनाख्त नहीं हो सकी है। शवों का डीएनए परीक्षण कराया जाना भी मुश्किल हो सकता है।

हादसे पर पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ ने शोक व्यक्त किया है। उन्होंने हादसे के संबंध में अधिकारियों से जांच रिपोर्ट मांगी है। पाकिस्तान की खस्ताहाल सड़कों के कारण सड़क दुर्घटनाओं की संख्या बढ़ी है।

 

Read more...

पाकिस्तान में भारतीय नागरिक को साजिशन मौत की सजा सुनाई गई

इस्लामाबाद: पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को ‘जासूसी और विध्वंसक गतिविधियों’ में दोषी पाये जाने के बाद उसे मौत की सजा सुनायी है जिस पर भारत ने सख्त प्रतिक्रिया दी है.

भारत ने कहा है कि पाकिस्तान यदि मौत की सजा को तामील करता है तो यह सुनियोजित हत्या होगी. विदेश मंत्रालय ने सोमवार को पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब कर उन्हें 'डिमार्शे' दिया जिसमें कहा गया है कि जिस कार्यवाही के आधार पर जाधव को यह सजा दी गई है वह ‘हास्यास्पद’है और उनके खिलाफ कोई ‘विश्वसनीय साक्ष्य’नहीं हैं.विदेश सचिव एस जयशंकर ने भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब कर बेहद कड़े शब्दों का डिमार्शे दिया. जाधव मामले पर पाकिस्तानी सेना की मीडिया इकाई इंटर सर्विसेस पब्लिक रिलेशन्स (आईएसपीआर) की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति पर प्रतिक्रिया देते हुए भारत ने कहा कि पिछले साल ईरान से उनका अपहरण किया गया था और पाकिस्तान में उनकी मौजूदगी के बारे में कभी कोई विश्वसनीय विवरण नहीं दिया गया.

डिमार्शे के मुताबिक भारत ने अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत इस्लामाबाद में अपने उच्चायोग के जरिए वाणिज्य दूतावास को जाधव तक संपर्क देने की मांग की और 23 मार्च 2016 से 31 मार्च 2017 के बीच ऐसे 13 अनुरोध औपचारिक तरीके से किए गए लेकिन ‘पाकिस्तानी अधिकारियों ने इसकी इजाजत नहीं दी.’इसमें कहा गया कि, ‘कार्यवाही जिसके चलते जाधव को यह सजा सुनाई गई वह ‘हास्यास्पद है और उनके खिलाफ बगैर किसी भरोसमंद सबूत के है.’ इसमें कहा गया कि यह अहम है कि भारतीय उच्चायोग को जाधव पर मुकदमा चलाने की सूचना तक नहीं दी गई।

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.