Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

चीन ने भारत में रह रहे अपने नागरिकों के लिये एडवायजरी जारी की

बीजिंग/ सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में भारत के साथ बने गतिरोध के बीच चीन ने गुरुवार को भारत जाने वाले अपने नागरिकों के लिए दूसरी बार एडवाइजरी जारी की। इस सलाह प्रपत्र में भारत की ट्रेन दुर्घटनाओं, दैवीय आपदाओं और संक्रामक रोगों का उल्लेख करते हुए उनसे बचाव करने की सलाह दी गई है। यह एडवाइजरी भारत में चीन के दूतावास ने जारी की है।

डोकलाम गतिरोध के चलते चीन का सरकारी मीडिया पहले से ही भारत विरोधी अभियान छेड़े हुए है। पीपुल्स डेली के ऑनलाइन संस्करण के मुताबिक एडवाइजरी में कहा गया है कि चीनी नागरिक भारत में अपनी व्यक्तिगत सुरक्षा पर खास ध्यान दें। सुरक्षा संबंधी स्थानीय हालात पर नजर रखें और भारत में अनावश्यक यात्राओं से बचें।

यात्री भारत में अपनी पहचान संबंधी दस्तावेज साथ लेकर चलें और अपनी मौजूदगी के संबंध में मित्रों व रिश्तेदारों को जानकारी देते रहें। यात्रा के दौरान चीनी नागरिक भारतीय धार्मिक मान्यताओं और माहौल का भी ध्यान रखें। एडवाइजरी में हाल ही में मुजफ्फरनगर में हुए उत्कल एक्सप्रेस के हादसे का भी उल्लेख किया गया है। यह एडवाइजरी दिसंबर 2017 तक प्रभावी रहेगी। इससे पहले चीन सरकार ने भारत जाने वालों के लिए सात जुलाई को एडवाइजरी जारी की थी जो एक महीने के लिए प्रभावी थी।

Read more...

चीन में बड़ा भूकंप करीब 90 लोगों की मौत

बीजिंग/ 

सीईएनसी के अनुसार, कल देर रात स्थानीय समयानुसार नौ बजकर 19 मिनट पर सिचुआन में आए भूकंप का केंद्र जमीन से 20 किलोमीटर नीचे थे. भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर सात मापी गई. स्थानीय समयानुसार कल रात 11 बजे तक भूकंप के बाद के कम से कम 107 झटके महसूस किए गए. 

Read more...

व्यापार घटता देख नमो-नमो करने लगा चीन का मीडिया

बीजिंग/ सिक्किम सीमा विवाद के कारण भारत-चीन के बीच तनातनी जारी है। चीनी मीडिया लगातार अपने लेखों के जरिए भारत पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है। लेकिन इन सब के बीच एक चौंकाने वाली खबर आई है। चीन ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की है। चीन ने पीएम मोदी के नेतृत्व और भारत की 'खुली विदेश आर्थिक नीति' की बुधवार को प्रशंसा की है। डोकलाम को लेकर चल रहे विवाद के बीच चीन का यह बयान हैरान करता है।

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने एक बयान जारी किया है जिसमें कहा गया है कि भारत विदेशी निवेश को अपनी तरफ आकर्षित करने में लगातार सफल हो रहा है, उसने अपने यहां विदेशी निवेश के लिए एक सकारात्मक माहौल बनाया है। इसके साथ ही यह देश पिछले 2 वर्षों के दौरान दुनिया में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के सबसे बड़े गंतव्य के रूप में उभरा है।

खतरे में ड्रैगन:खोखली हो रही चीनी अर्थव्यवस्था, 'ग्रे राइनोज' से खतरा

इसके साथ ही इस लेख में कहा गया कि भारत चीन के साथ व्यापार सहयोग मजबूत कर रहा है और इस देश की खुली व्यापार नीति, मुक्त वैश्विक व्यापार बढ़ावा देने और संरक्षणवाद का मुकाबला करने में सक्षम है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ करते हुए कहा गया कि मोदी के नेतृत्व में भारत एक सक्रिय विदेश नीति लागू कर रहा है। इसके साथ ही भारत की विदेशी निवेश नीति भी सुधरी है और घरेलु उद्यमों को अंतर्राष्ट्रीय बाजार में उतरने का प्रोत्साहन भी मिला है।

अफगानिस्तान:कंधार सैन्य बेस पर तालिबान का हमला,26 अफगान सैनिकों की मौत

भारत की मौजूदा सुधार प्रक्रिया और खुली नीति बेहद आकर्षक है। इस लेख में यह भी कहा गया कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर दोनों राष्ट्र सामान रुख अपनाते हैं। इसमें पेरिस जलवायु समझौते का उदाहरण दिया गया है।

Read more...

चीन के रक्षा मंत्रालय ने पहली बार डोकलाम पर युद्ध की प्रतिक्रिया दी

बीजिंग/ डोकलाम सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन के बीच चल रही तनातनी के बीच पहली बार चीन के रक्षा मंत्रालय ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता वी कियान ने धमकी भरे अंदाज में भारत को धमकाते हुए कहा है, 'समस्या का हल करने के लिए हमारी पहली शर्त है कि भारत पूरे बॉर्डर एरिया से तुरंत अपने सैनिकों को वापस बुलाए, पूरे क्षेत्र की शांति सीमावर्ती क्षेत्रों की शांति पर निर्भर करती है।' उन्होंने कहा कि 'पहाड़ को हिलाया जा सकता है, लेकिन चीनी सेना को नहीं हिलाया जा सकता।' 

आपको बता दें कि डोकलाम को लेकर भारत और चीन में काफी दिनो से तनाव जारी है। वैसे तो चीनी सरकार और वहां की सरकारी मीडिया की तरफ से आए दिन इस तरह की धमकी आती रहती है लेकिन यह पहली बार है कि चीनी सेना ने बयान जारी कर इस तरह की धमकी दी है। चीन की सेना के प्रवक्ता वू कियान ने कहा, ‘अपनी संप्रभुता की रक्षा करने के प्रति हमारा संकल्प कभी नहीं डिगने वाला है। हम हर कीमत पर अपनी संप्रभुता और सुरक्षा के हितों की रक्षा करेंगे। क्षेत्र के हालातों को देखते हुए चीन की सेना ने कदम उठाए हैं। हम हालात को देखते हुए सेना की तैनाती बढ़ाएंगे।’

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.