Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

भूकंप से कांपा इंडोनेशिया का रिसॉर्ट द्वीप बाली

जकार्ता: इंडोनेशिया के रिसॉर्ट द्वीप बाली में भूकंप आने से स्थानीय लोगों में तनाव पैदा हो गया लेकिन किसी के हताहत होने या किसी प्रकार का नुकसान होने की कोई खबर नहीं है.

‘यूनाइटेड स्टेट्स जियोलॉजिकल सर्वे’ ने बताया कि स्थानीय समयानुसार सुबह सात बजकर 10 मिनट पर आये भूकंप की तीव्रता 5.5 थी. भूकंप का केंद्र बाली के दक्षिण पूर्व में स्थित बंजर पासेकन के उत्तर पूर्व में दो किलोमीटर की दूरी पर 118 किलोमीटर की गहराई में था.

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कई स्थानीय लोग एवं पर्यटक अपने घरों और होटलों से बाहर मैदानों की ओर भागे लेकिन भूकंप से सुनामी का कोई भी संभावित खतरा न होने का संदेश मिलने के बाद स्थिति एक बार फिर सामान्य हो गयी.

इंडोनेशिया के प्रशांत रिंग ऑफ फायर पर स्थित होने के कारण यहां भूकंप का खतरा बना रहता है.

Read more...

इंडोनेशिया में 2 ऑस्ट्रेलियन टूरिस्टों को चोर बता कर सड़क पर घुमाया

जकार्ता: इंडोनेशिया के एक अहम टूरिस्ट प्लेस पर एक महिला समेत दो ऑस्ट्रेलियन टूरिस्ट्स पर साईकिल चोरी का आरोप लगा। लोकल रूल्स के मुताबिक, इन्हें सजा दी गई। दोनों टूरिस्ट्स के गले में एक तख्ती लगाकर उन्हें शहर की सड़कों पर घुमाया गया। तख्ती पर लिखा था, ‘मैं चोर हूं। जो मैंने किया वो आप मत करना।’घटना कुछ दिनों पहले इंडोनेशिया के वर्ल्ड फेमस टूरिस्ट डेस्टिनेशन ‘गिली त्रवान्गन’ में हुई। अब मीडिया इसे ‘वॉक ऑफ शेम’ यानी शर्मसार करने वाली परेड करार दे रहा है।दोनों टूसिस्ट्स की आईडेंटिटी पब्लिक नहीं की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोनों टूरिस्ट्स एक होटल में ठहरे थे। यहां की पार्किंग में से उन्होंने एक साईकिल चुराई और घूमने निकल गए। अगले दिन उन्हें लोकल अथॉरिटी ने पकड़ा। चोरी की तख्ती लगाकर सड़कों पर घुमाया।चोरों को ऐसी ही सजा का कानूनलोकल अथॉरिटी के चीफ मोहम्मद तौफीक ने बताया- हमने उनसे पूछताछ की। इसके बाद एक एग्रीमेंट हुआ। उनकी गले में तख्ती लगाकर परेड कराई गई और इसके बाद उनसे शहर छोड़ने को कह दिया गया। तौफीक के मुताबिक, लोकल लोगों को भी चोरी के आरोप में इसी तरह की सजा दी जाती है।इंडोनेशिया के इस हिस्से में भी देश का कानून चलता है लेकिन इस मामले में ये साफ नहीं हो सका कि इन लोगों की पुलिस जांच की गई या नहीं। तौफीक ने कहा, “ये तो हमारे यहां होता ही आया है। मुझे नहीं पता कि पुलिस उन पर क्या आरोप दर्ज करती है। मेरे लिए यही जरूरी है कि वो लोग अब शहर छोड़कर जा चुके हैं।”

Read more...

इंडोनेशिया में भूकंप से मरने वालों की संख्या बढ़कर 117 हुई

जकार्ताः बुधवार सुबह पश्चिमी इंडोनेशिया में आए एक शक्तिशाली भूकम्प के कारण ध्वस्त इमारतों के अंदर फँसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए बचाव अभियान चलाए जा रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि इसमें कम से कम 117 लोग मारे गए हैं और 610 से अधिक घायलों का इलाज चल रहा है। अमरीकी भूगर्भीय सर्वेक्षण ने कहा कि 6.5 की तीव्रता वाला भूकंप बुधवार सुबह 5 बजे के तुरंत बाद क्षेत्र के तटीय इलाकों में आया। इसका केंद्र आचेह प्रांत की राजधानी बांदा आचेह से दक्षिणपूर्व में 90 किलोमीटर से अधिक दूर था। आकलन के अनुसार भूकम्प का केंद्र 8.2 किलोमीटर गहराई में था। इंडोनेशिया की राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एजेंसी कहा कि भूकम्प के झटके उसके केंद्र के निकट पीदी जाया में लगभग 15 सेकण्ड तक महसूस किए गए। पीदी जाया और एक पड़ोसी इलाके में घरों, दुकानों और मस्जिदों समेत लगभग 200 इमारतें ध्वस्त हो गईं।एजेंसी का कहना है कि ध्वस्त इमारतों के नीचे दबे लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए सैन्य टुकड़ियाँ भेजी गई हैं।

Read more...

इंडोनेशिया में 6.5 तीव्रता के भूकंप की तबाही, अब तक 64 की मौत

जकार्ताः रिंग ऑफ फायर पर मौजूद देश इंडोनेशिया में 6.5 तीव्रता का बड़ा भूकंप आया है। समाचार लिखे जाने तक 64 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है। इस भूकंप से बड़ी बरबादी होने की आशंका है। इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप के असेह प्रांत में बुधवार को शक्तिशाली भूकंप के कारण कम से कम 64 लोगों की मौत हो गई और सैकड़ों लोग घायल हो गए। पीडी जाया जिले में तड़के जब 6.5 तीव्रता का भूकंप आया तब मुस्लिम बहुल इलाके में कुछ लोग सुबह की नमाज की तैयारी कर रहे थे।छोटे से शहर मुरूडु में भूकंप के कारण मस्जिदें और दुकानें ढह गईं। भूकंप से घबराए लोग घरों से बाहर निकल आए। सुनामी की चेतावनी जारी नहीं की गई है। स्थानीय आपदा एजेंसी के प्रमुख पुतेह मनफ ने बताया कि जिले के अकेले अस्पताल में बड़ी संख्या में घायलों को लाया गया। उन्होंने बताया कि जो आंकड़े हमें अभी तक प्राप्त हुए हैं उनके मुताबिक 64 लोगों की मौत हुई है और सैकड़ों लोग घायल हुए हैं।मारे गए लोगों में कुछ बच्चे भी हैं। यूएस जियोलॉजिकल सर्वे (यूएसजीएस) ने बताया कि छोटे से कस्बे रेउलेउएट के उत्तर में 6.5 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप आया। सुनामी संबंधी कोई चेतावनी जारी नहीं की गई है। स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि भूकंप तड़के आया और उस समय मुस्लिम बहुल इस इलाके में कुछ लोग नमाज पढ़ने की तैयारी कर रहे थे। मुलयादी ने बताया कि मृतकों में बच्चे भी हैं। बड़ी संख्या में घायल लोग स्थानीय अस्पताल पहुंच रहे हैं। मस्जिदें, मकान एवं दुकानें भूकंप में ढह गईं। भूकंप से सर्वाधिक प्रभावित हुए इलाकों की तस्वीरों में बहुत नुकसान हुआ दिखाई दे रहा है।स्थानीय निवासी हस्बी जया (37) ने कहा कि जब भूकंप आया, तब उसका परिवार सो रहा था। उसने कहा कि हम तत्काल घर से बाहर भागे। मकान ढह गया। छत से लेकर फर्श तक सब कुछ ढह गया और नष्ट हो गया। उसने कहा कि मैंने चारों ओर देखा। मेरे सभी पड़ोसियों के घर भी पूरी तरह तबाह हो गए थे। स्थानीय आपदा प्रबंधन एजेंसी ने कहा कि ध्वस्त इमारतों के नीचे फंसे लेागों को बचाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। स्थानीय एजेंसी के प्रमुख पुतेह मनफ ने कहा कि कुछ लोग अब भी दुकानों एवं मकानों में फंसे हुए हैं और हम हाथों एवं भारी मशीनों की मदद से उन्हें निकालने की कोशिश कर रहे हैं। भूकंप वैज्ञानिकों ने कहा कि असेह प्रांत के अधिकतर इलाकों में भूकंप महसूस किया गया। असेह वर्ष 2004 में हिंद महासागर में आई सुनामी में तबाह हो गया था। मौसम विज्ञान, जलवायु एवं भूभौतिकी एजेंसी की स्थानीय प्रमुख एरिदावति ने कहा कि भूकंप के बाद कम से कम पांच झटके आए।

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.