Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

तालेबान ने अफ़ग़ानिस्तान में कम से कम 50 लोगों की हत्या

काबुल/ तालेबान ने अफ़ग़ानिस्तान में कम से कम 50 लोगों की हत्या कर दी।एजेन्सी के अनुसार अफ़ग़ानिस्तना के सरपुल प्रांत के अधिकारियों ने बताया है कि तालेबान ने इस प्रांत के सय्याद नगर के मीर्ज़ाऔलंग क्षेत्र पर क़ब्ज़ा करने के बाद कम से कम 50 लोगों की हत्या कर दीं।  मृतकों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं।

सरपुल के गवर्नर का कहना है कि तालेबान ने इस क्षेत्र पर नियंत्रण करते ही कल रविवार को 150 से अधिक लोगों को पकड़ लिया जिनमें से 40 लोगों की हत्या उसी समय कर दी थी जबकि कुछ को बाद में मारा।  तालेबान ने जिन लोगों की हत्या की है उनमें से 26 किसान हैं।

इसी बीच अफ़ग़ानिस्तान के सरपुल प्रांत के गवर्नर ने विश्व समुदाय से मांग की है कि वे मीर्ज़ाऔलंग क्षेत्र को निर्दोष महिलाओं, बच्चों और पुरूषों का जनसंहार स्थल न बनने दे क्योंकि तालेबान के नियंत्रण में बहुत से बेगुनाह हैं।

अफ़ग़ानिस्तान के सरपुल प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता ज़बीहुल्लाह अमानी ने केन्द्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा है कि तालेबान द्वारा मीर्ज़ाऔलंग क्षेत्र पर नियंत्रण के लगभग तीन दिनों के बाद भी तालेबान का मुक़ाबला करने के लिए काबुल की केन्द्रीय सरकार ने कुछ भी नहीं किया है।  प्रवक्ता का कहना है कि लोगों की हत्या बहुत ही निर्मम और अमानवीय ढंग से की गई।

Read more...

अफगानिस्तान में कार विस्फोट,26 लोगों की मौत

काबुल/ अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में सोमवार को एक कार में बम विस्फोट हुआ.  इस घटना में 26 लोगों की मौत हो गई जबकि 40 अन्य घायल हो गए हैं. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नजीब डैनीश साई डेनिश ने हताहतों की संख्या और बढ़ने की आशंका जताई है. पुलिस का अनुमान है इस घटना को एक आत्मघाती हमलावर ने अंजाम दिया है, जिसने कार के भीतर खुद को उड़ा लिया. 

बता दें यह हमला काबुल के पश्चिम में अफगानी संसद के सदस्य मोहम्मद मोहाकिक घर के पास हुआ है. वह अफगानिस्तान की पीपुल्स इस्लामिक यूनिटी पार्टी के संस्थापक भी हैं. फिलहाल पुलिस ने पूरे इलाके को घेर लिया है और मामले की जांच शुरु कर दी है. अभी तक किसी आतंकवादी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है.

घटना स्थल के आसपास के क्षेत्रों में शिया हजारा समुदाय के लोगों की बहुलता है. पहले भी इस समुदाय को अक्सर निशाना बनाया गया है. करीब एक साल पहले इस क्षेत्र में हुए विस्फोट में इस समुदाय के दर्जनों लोग मारे गये थे.

Read more...

डॉक्टर के भेष में अफगानिस्तान में बड़ा आतंकी हमला, 40 की मौत

काबुल: काबुल स्थित अफगानिस्तान के सबसे बड़े मिलिट्री हॉस्पिटल पर आज डाक्टरों की ड्रेस में आतंकियों ने हमला कर दिया. जिसके बाद हमला करने वाले आतंकवादियों के साथ सुरक्षाकर्मियों की छह घंटे चली मुठभेड़ में 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है जो अफगानिस्तान में अपना असर बढ़ा रहा है.

अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. अभी तक किसी भी आतंकवादी संगठन ने सरदार दाउद खान हॉस्पिटल में किये गये हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है . यह हमला ऐसे समय में किया गया है जब गर्मियों में तालिबान के हमले शुरू होने से पहले ही उसके आतंकवादियों के हमले बढ़ गये हैं.

राजधानी के वजीर अकबर खान इलाके के दो असैन्य अस्पतालों के निकट स्थित 400 बेड वाले यह हॉस्पिटल पर आतंकवादी हमले में 50 अन्य घायल हो गए. विस्फोटों और गोलियों की आवाज से राजधानी काबुल का राजनयिक इलाका दहल गया.

अस्पताल के एक कर्मचारी ने फेसबुक पर लिखा, ‘‘हमलावर अस्पताल के अंदर हैं. हमारे लिये दुआ कीजिये.’’ हॉस्पिटल के मैनेजमेंट ने बताया कि विस्फोट के बाद डॉक्टरों के सफेद कोट पहने तीन बंदूकधारी अस्पताल में घुस आये जिससे वहां अफरातफरी मच गयी. इस अस्पताल में 400 बेड हैं.

हॉस्पिटल के एडमिनिस्ट्रेटर अब्दुल हाकिम ने टेलीफोन पर जल्दबाजी में बताया, ‘‘हमलावर हर जगह गोलियां चला रहे हैं. हम स्थिति को नियंत्रण में करने की कोशिश कर रहे हैं.’’ जब अफगान विशेष बल हमलावरों को काबू में करने की कोशिश कर रहे थे तो कम से कम दो अन्य तेज धमाकों की आवाज सुनी गयी.

Read more...

अफ़ग़ानिस्तान में हवाई हमले में 30 आम नागरिक हताहत

काबुलः अफ़ग़ानिस्तान के फ़रह प्रांत के स्थानीय सूत्रों का कहना है कि प्रांत की तहसील के बाला ब्लोक क्षेत्र पर विदेशी सेना के हवाई हमले में कम से कम तीस आम नागरिक हताहत व घायल हो गये।फ़राह प्रांत की प्रांतीय परिषद के एक सदस्य के हवाले से रिपोर्ट दी है कि इस हवाई हमले में 10 आम नागरिक मारे गये।

चिकित्सा सूत्रों ने भी पुष्टि की है कि बाला ब्लोक क्षेत्र में हुए विदेशी सेना के हवाई हमले में घायल होने वाले 22 लोगों को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।अफ़ग़ानिस्तान में विदेशी सैनिकों के हवाई हमलों में अब तक सैकड़ों आम नागरिक हताहत व घायल हो चुके हैं। अफ़़ग़ानिस्तान के साथ अमरीका ने सुरक्षा समझौते में यह वचन दिया था कि वह हमले नहीं करेगा।वर्तमान समय में अफ़ग़ानिस्ताान के कुछ सांसद काबुल-वाशिंग्टन सुरक्षा समझौते पर पुनर्विचार करने की मांग कर रहे हैं

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.