Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

हज़ारों अमरीकी मकान हफ़्तों तक बाढ़ में डूबे रहेंगे

ह्यूस्टन/ अमरीका के दक्षिणी शहर ह्यूस्टन में प्रशासन का कहना है कि आने वाले कई सप्ताहों तक हज़ारों मकान पानी में डूबे रहेंगे क्योंकि समुद्री तूफ़ान हार्वी की वजह से भर गए बाँधों से पानी छोड़ा जा रहा है। ह्यूस्टन टेक्सस राज्य का सबसे बड़ा शहर है।

शुक्रवार को समुद्री तूफ़ान हार्वी को टेक्सस में आए एक सप्ताह हो गया। बाद में हार्वी हवा के एक कम दबाव वाले क्षेत्र में परिवर्तित हो गया किंतु उससे ह्यूस्टन और निकटवर्ती क्षेत्रों में अभूतपूर्व स्तर पर बारिश हुई और बाढ़ आई।

इस झंझावात से कम से कम 39 लोग मारे जा चुके हैं और लगभग 42,000 भागने पर मजबूर हो गए हैं।

ह्यूस्टन के महापौर सिलवेस्टर टर्नर ने कहा कि 2 बाँधों से पानी छोड़े जाने की प्रक्रिया के दौरान अगले 15 दिनों तक लगभग 20,000 हज़ार मकान डूबे रह सकते हैं।

क्षतिग्रस्त मकानों की संख्या पहले ही 1 लाख 50 हज़ार को पार कर चुकी है।

बाढ़ ने शहर के निकट एक रासायनिक कारखाने के प्रशीतन उपकरण को भी नुकसान पहुँचा दिया है जिससे धमाके हुए और आग लग गई।

कोई भी नागरिक घायल नहीं हुआ है परंतु और धमाकों के होने की चिंताएँ बढ़ रही हैं।

Read more...

उत्तर कोरिया से सहमा अमेरिका, बातचीत के लिये हुआ तैयार

वाशिंगटन/ अमरीका के विदेश मंत्री रिक्स टिलरसन ने कहा है कि उना देश उत्तरी कोरिया से बातचीत के लिए अब भी तैयार है।

ट्रम्प की परमाणु हमले की धमकी के बाद ख़राब हो चुके माहौल को नियंत्रण में लाने के कोशिशों के तहत टिलरसन ने कहा कि उत्तरी कोरिया ने गुआम द्वीप के क़रीब मिसाइल हमले की अपनी योजना रोक दी है तो अब अमरीका उत्तरी कोरिया से बातचीत के लिए तैयार है।

टिलरसन ने कहा कि वार्ता की मेज़ की ओर जाने वाले रास्ते को हम महत्व दे रहे हैं लेकिन वार्ता उत्तरी कोरिया के शासक पर निर्भर है।

उत्तरी कोरिया के शासक किम जोंग ऊन ने मंगलवार को घोषणा की है कि उन्होंने गुआम द्वीप के क़रीब मिसाइल फ़ायर करने की योजना को रोक दिया है लेकिन अगर वाशिंग्टन ने फिर कोई उत्तेजक क़दम उठाया तो इस योजना पर पुनः काम शुरू कर दिया जाएगा।

टिलरसन ने पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा कि अभी उनके पास उत्तरी कोरिया के इस नए फ़ैसले का जवाब नहीं है

Read more...

अवैध रूप से आए सिख को वापस भारत भेजेगा अमेरिका

न्यूयॉर्क/ अवैध अप्रवासियों पर ट्रंप प्रशासन की कार्रवाई अभी भी जारी है और करीब एक दशक पहले मेक्सिको के रास्ते अमेरिका में अवैध तरीके से आने वाले 39 वर्षीय एक सिख को भारत वापस भेजा जाएगा.

बलजीत सिंह ने 12 साल पहले टेक्सास की सीमा को अवैध तरीके से पार किया था. उनके वकील ने बताया कि पंजाब में धार्मिक उत्पीड़न के चलते सिख होने के नाते उन्हें अपनी जान का खतरा था जिस कारण वह यहां आ गए. लॉस एंजिलिस टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक बलजीत सिंह का कोई भी आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है और वह दो बच्चों के पिता हैं जो अमेरिका के नागरिक हैं. उन्हें अप्रवासन अधिकारियों के पास जांच के लिए नियमित अवधि पर जाना होता है. इस माह के शुरू में ऐसी ही एक जांच के दौरान उन्हें बताया गया कि उन्हें 90 दिनों के बाद वापस भारत भेजा जाएगा.

एक हफ्ते की हिरासत के बाद सिंह को टखनों पर एक मॉनीटर के साथ छोड़ा गया है और तीन महीने खत्म होने के बाद उन्हें भारत लौटना होगा. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शासन में आने से पहले वादा किया था कि वह अमेरिका में गैरकानूनी रूप से रह रहे 110 लाख लोगों को निष्कासित कर देंगे जो अमेरिकी रोजगारों पर काबिज हैं और अपराध को बढ़ावा देते हैं. सिंह ने देश में रहने के लिए एक लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी. एक न्यायाधीश ने उनके इस मामले (आश्रय देने) को खारिज कर दिया.

Read more...

डोनाल्ड ट्रम्प ने नार्थ कोरिया पर हमले की धमकी को दोहराया

वाशिंगटन/ नॉर्थ कोरिया से जारी विवाद के बीच डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को इस देश को खुली धमकी की। ट्रम्प ने कहा- इस मामले का सैन्य हल (हमला) निकालने की हमने पूरी तैयारी कर ली है। सारी चीजें तैयार हैं। उम्मीद है कि अब किम जोंग उन (नॉर्थ कोरिया के तानाशाह) को दूसरा रास्ता खोजना पड़ेगा। इससे पहले, अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के बीच बढ़ते तनाव पर चीन ने कहा कि अगर अमेरिका ने नॉर्थ कोरिया पर हमला किया तो वो इस मामले में दखल देगा। 

न्यूज एजेंसी के मुताबिक ट्रम्प ने कहा है, "अगर नॉर्थ कोरिया अमेरिका के साथ कुछ करता है तो उसे गंभीर नतीजे भुगतने होंगे। वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आया तो वह ऐसी परेशानी में होगा जैसी बहुत ही कम देशों ने अब तक झेली है।" ट्रम्प ने कहा कि चीन नॉर्थ कोरिया के मुद्दे पर बहुत कुछ कर सकता है। 

बता दें कि नॉर्थ कोरिया के एटमी प्रोग्राम को आगे बढ़ाने की वजह से यूएन (संयुक्त राष्ट्र) ने उस पर नए आर्थिक प्रतिबंध लगाए हैं।

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.