Menu
                   
RSS

You Are Visitor No.

web
statistics

भारत-चीन के बीच बढ़ रही तनातनी, भारत ने बनाये बंकर

उत्तरकाशी/ चमोली में चीनी सैनिकों की घुसपैठ और डोकलाम में भारत-चीन के बीच बढ़ रही तनातनी का असर उत्तराखंड से लगी सीमा पर भी नजर आने लगा है। 1962 के युद्ध के बाद यह पहला मौका है, जब सेना सक्रिय हुई है। सेना के बंगाल इंजीनियरिंग ग्रुप (बीईजी) ने पुराने बंकरों की मरम्मत के साथ ही नए बंकरों का निर्माण शुरू कर दिया है।

भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के कमांडेंट केदार सिंह रावत ने बताया कि सीमा पर हाई अलर्ट है और सुरक्षा के लिए सभी इंतजाम किए जा रहे हैं।345 किमी सीमा चीन लगती है उत्तराखंड मेंउत्तराखंड में 345 किलो मीटर लंबी सीमा चीन से लगती है। इसमें से 122 किलो मीटर उत्तरकाशी जिले में है।

समुद्रतल से 3800 से लेकर 4600 मीटर की ऊंचाई पर पड़ने वाले इस शीत मरुस्थल में आइटीबीपी के जवान नौ चौकियों में चौबीसों घंटे निगहबानी कर रहे हैं। दरअसल वर्ष 1962 से पहले इस इलाके में दो गांव थे जादूंग व नेलांग। युद्ध के बाद इन गांवों को विस्थापित कर दिया गया। उस समय सेना ने हर्षिल कारछा, नेलांग के साथ ही कुछ अन्य स्थानों पर बंकर बनाए थे। अब एक बार फिर परिस्थितियां बदली हुई लग रही हैं। गौरतलब है कि चमोली के बाड़ाहोती क्षेत्र में जुलाई में ही चीनी सैनिकों के दो बार घुसपैठ की सूचनाएं हैं।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा है कि चीन विस्तार या आक्रमण नहीं करता, लेकिन किसी को भी अपनी सीमा में घुसने नहीं देगा। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के 90वें स्थापना दिवस पर पड़ोसी देशों के साथ विवादों पर उन्होंने कहा कि सेना संप्रभुता की रक्षा करेगी और किसी भी आक्रमण का जवाब देगी।

डोकलाम में भारत के साथ तनातनी पर जिनपिंग ने कहा कि हम कभी भी किसी इंसान, संगठन या राजनीतिक दल को किसी भी रूप में चीन का एक भी हिस्सा बांटने नहीं देंगे। कोई ऐसी उम्मीद न करे कि हम उस कड़वे घूंट को निगलेंगे जो हमारे संप्रभुता, सुरक्षा या विकास के हित के लिए नुकसानदायक होगा।

 

Read more...

हिमखंड टूटने से बदरीनाथ हाईवे क्षतिग्रस्त

जोशीमठ: तापमान बढ़ने से उच्च हिमालयी क्षेत्र में बर्फ पिघलने के साथ हिमखंड भी टूटने लगे हैं। इससे सड़कों के टूटने का खतरा भी पैदा हो गया है। मंगलवार को हिमखंड टूटने से जोशीमठ से 31 किलोमीटर आगे हनुमानचट्टी के पास रड़ांग बैंड के पास बदरीनाथ हाईवे क्षतिग्रस्त हो गया। इससे बड़े वाहनों की आवाजाही पूरी तरह बंद हो गई है। सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) का कहना है कि 10 अप्रैल तक क्षतिग्रस्त हिस्से को दुरुस्त कर लिया जाएगा। 

बीआरओ के कमांडर आर. सुब्रमण्यम ने बताया कि हाईवे का करीब 60 मीटर हिस्सा क्षतिग्रस्त हुआ है। ऐसे में वहां से सिर्फ छोटे वाहन ही गुजर पा रहे हैं। उन्होंने बताया कि क्षतिग्रस्त हिस्से की मरम्मत के लिए कार्ययोजना तैयार कर चुका है। 

इसके तहत पहले स्रोत से कंक्रीट की नाली बनाकर पानी की निकासी की व्यवस्था की जाएगी। इसके बाद सुरक्षा दीवार का निर्माण कर हाईवे को सुचारु किया जाएगा। बता दें कि बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग चीन सीमा से लगा हुआ है। इसलिए कपाट बंद होने के बाद भी इस पर सेना व बीआरओ के बड़े वाहनों की आवाजाही होती रहती है।

 

Read more...

केदारनाथ में एक बार फिर महसूस हुए भूकंप के झटके

रुद्रप्रयाग: केदारघाटी में गुरुवार देर रात एक बार फिर भूकंप के झटके महसूस किए गए। हालांकि, मौसम विभाग ने गुरुवार रात आए भूकंप की पुष्टि नहीं की है। स्थानीय लोगों के मुताबिक, रात को उन लोगों ने हल्के भूकंप के झटके महसूस किए।भूकंप के झटके की किसी भी एजेसी ने पुष्टि नहीं की है

वहीं, भूकंप की जानकारी देते हुए घरों से बाहर आने को कहने लगे। देर रात तक भी शासन स्तर से भूकंप की पुष्टि नहीं की जा सकी। आपदा सचिव अमित नेगी ने बताया कि मौसम विभाग की ओर से किसी प्रकार के भूकंप कोई जानकारी फिलहाल नहीं है, लेकिन क्षेत्रवासियों के अनुसार ही भूकंप आने आशंका जताई जा रही है।

Read more...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भ्रष्टाचार पर बात करने का कोई अधिकार नहीं है : राहुल गांधी

हरिद्वार: उत्तराखंड में 15 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस प्रत्याशियों के समर्थन में पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को हरिद्वार जिले में 75 किलोमीटर लंबा रोड शो किया और आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भ्रष्टाचार पर बात करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनकी पार्टी के सभी ‘दागी’ नेता अब भाजपा की शोभा बढ़ा रहे हैं।

सर्वाधिक 11 विधानसभा सीटों वाले हरिद्वार जिले के भगवानपुर से रोड शो शुरू करने के बाद पुहाना में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, ‘मोदी जी को भ्रष्टाचार पर बात करने का कोई हक ही नहीं है। पहले हमारे साथ रहे सभी घोटालेबाज दागी नेता अब भाजपा के साथ हैं।’ अपने पूर्ववर्ती मनमोहन सिंह पर ‘रेनकोट’ संबंधी बयान के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए राहुल ने कहा कि उनके द्वारा चुने गये शब्द उनके पद की मर्यादा के अनुरूप नहीं है।

 

Read more...

इन्हें भी पढ़ें

loading...
Info for bonus Review William Hill here.